Ruthna Shayari Hindi Roothna

Ruthna Shayari in Hindi – जब हम बचपन में रूठते हैं तो जल्दी मान जाते हैं. परन्तु जैसे जैसे बड़े होते हैं वैसे-वैसे हमारी समझ को न जाने क्या हो जाता है कि हम किसी से रूठ जाएँ तो मानने का नाम नहीं लेते हैं. इस दुनिया में सबसे ज्यादा लोग अपनों से रूठते हैं. Ruthna Shayari 2 Lines in Hindi ( Tera Roothna Shayari ) – प्यार में अक्सर रूठना और मनाना लगा रहता हैं. ज्यादातर लड़कियाँ ही रूठती है और लड़कों को मनाना पड़ता हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन रूठना शायरी, तेरा रूठना शायरी, Ruthna Shayari 2 Lines, Tera Roothna Shayari, Ruthna Manana Shayari in Hindi, Ruthna Shayari in Urdu आदि दिए हुए हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन रूठना शायरी आदि दिए हुए हैं. इस पोस्ट को जरूर पढ़े.

Ruthna Shayari Hindi Roothna

Ruthna Shayari Hindi Roothna

Table of Contents

ruthna manana shayari

नाकाम थीं मेरी सब कोशिशें उस को
मनाने की पता नहीं कहां से सीखी
जालिम ने अदाएं रूठ जाने की.

Nakaam thi meri sab koshishe
us ko manaane ki Pata nahi kaah
se seekhi zaalim ne adaayen rooth
jane ki.

ruthna manana shayari 2023

उफ़ उसके रूठने की अदाये भी
गजब की थी बात बात पे कहना की
सोच लो फिर बात नही करुँगी.

Uff uske ruthne ki adaye bhi
gajab ki thi baat baat pe kehna
ki soch lo fir baat nahi karungi.

ruthna manana shayari in hindi

तू हजार बार भी रूठे तो मना लूंगा तुझे
मगर देख मोहब्बत में शामिल कोई दूसरा न हो.

Tu hazar baar bhi ruthe to mana
lunga tujhe magar dekh mohabbat
me shamil koi dusra na ho.

ruthna manana shayari hindi

रूठने का हक़ है तुझे, वजह बताया कर
ख़फ़ा होना गलत नही, तू खता बताया कर।

Ruthne ka haq h tujhe,wajah
bataya kar Khafa hona galat
nhi,tu khata bataya kar.

roothna manana shayari

रूठना अगर तुम्हारी आदत है,तो
तुम्हें मनाना मेरी आदत है तुम हजा़र
बार रूठोगी,तो मैं लाखों बार मनाऊंगा.

Ruthna agar tumhari adat hai to
tumhe manana meri Adat ha tum
hazar baar ruthogi to me lakhon bar
manaunga.

ruthna manana ki shayari

बस एक यही आदत तो मेरी खरा़ब है
रूठने के लिये ना जाने कितने बहाने चाहिये
और मान जाने के लिये तेरा बोलना ही काफी है.

bas ek yahi adat to meri kharab hai
ruthne ke liye naa jane kitne bahane
chahaiye aur maan jane ke lye tera
bolna hi kafi hai.

mujhe manana nahi aata shayari

ये रूठना, मनाना अदाएँ हैं मोहब्बत की
चटपटा न हो तो खाने में मज़ा क्या है.

Ye roothna, manaana adayen
hai mohababt ki Chatpata na ho
to khane mein maza kya hai.

ruthna manana shayari for gf

Tum hanste ho mujhe hansane
ke liye tum rote ho to mujhe
rulane ke liye tum ek baar ruth
kar to dekho mar jayege tumhe
manane ke liye.

manana nahi aata shayari

रूठे यार को मनाना मेरे बस मे नही
मेरे दिल का इजहार इन लफ्जो मे नही.

Ruthe yaar ko manana mere
bas me nahi mere dil ka izhaar
in lafzon me nahi.

shayari on ruthna manana

रुठना हमे भी अच्छा लगता हैं,
अगर कोई मानाने वाला साथ हो तो।

Ruthana hume bhi accha lagta ha
agar koi manane wala sath ho to.

shayari on roothna manana

तुम रूठ गए तो हम मनाने आ जाएंगे
आप पर हम अपना हक़ जताने आ जायेगे.

Tum ruth gaye to hum manane
aa jayenge aap par hum apna
hak jatane aa jayenge.

ruthna shayari in hindi

मान जाना मेरी जान और कितना हमे
रुलायेगी,रह नहीं सकते बात किये बिना
और कितना हमें तड़पाएंगी.

man Jaan O Meri Jaan aur Kitna
Hamen ruailegi Raha Nahin Sakte
Baat kiye Bina aur Kitna Hamen
tadpayegi.

ruthna manana shayari in hindi font

अब तो यूँ रुठना भी छोड़ दिया,
क्यूंकि अब कोई मानाने वाला नही।

Ab to yun ruthna bhi chod diya
kyuki ab koi manane wala nahi..

love shayari ruthna manana

आज खुद को भुलाने को जी कर रहा है,
बेवजह रूठ जाने को जी कर रहा है, तुम्हे
वक़्त शायद मिले न मिले, आज खुद को
मनाने को जी कर रहा है।

Aaj khud ko bhulane ko ji kar
raha ha bewajah ruth jane ko
ji kar raha ha tumhe waqt shayad
mile na mile aaj khud ko manane
ko ji kar raha hai.

shayari ruthna manana

रूठे हुये हो क्यों में मनाने को हु तैयार कीमत बता
दो मान जाने की में जिन्दगी लुटाने को हु तैयार.

ruthe huye ho kyun me manane
ko hu taiyar kimat bata do man jane
ki me zindagi lautane ko hun taiyar..

quotes on ruthna manana

अकेले में तुम्हारी याद आना अच्छा लगता है
तुम्ही से रूठना तुमको मनाना अच्छा लगता है।

Akele me tumhari yaad aana
accha lagta ha tumhi se ruthana
tumko manana accha lagta hai.

love ruthna shayari

गिले शिकवे दिलसे न लगा लेना,
कभी रूठ जाऊ तो मना लेना,
कल का क्या पता हम हो न हो,
इसलिए जब भी मिलू, प्यार से
मेरा हाथ थाम लेना.

Gile shikawe dilase na laga lena
kabhi ruth jaun to mana lena kal
ka kya pata hum ho na ho isliye
jab bhi milun pyar se mera hath
tham lena.

pyar me ruthna shayari

रूठना अगर मुझसे तो ये जहन में रखना
मनाना आदत नही हमारी और जुदा हम
रह नही सकते.

Roothna agar mujhse to Ye jahan
mein rakhna Manaana aadat nahi
hamri Aur juda ham rah nahi sakte..

ruthne manane ki shayari

बहाने बनाना कोई उनसे सीखे, बनाकर
मिटाना कोई उनसे सीखे,सबब रूठने का भी
होता है लेकिन, यूं ही रूठ जाना कोई उनसे सीखे.

bahane banana koi unse sikhe
banakar mitana koi unse sikhe
sabb ruthne ka bhi hota ha lekin
yun hi ruth jana koi unse sikhe.

shayari ruthne manane ki

जंग न लग जाये मोहब्बत को कहीं
रूठने मनाने के सिलसिले जारी रखो.

Jang na lag jaye mohababt
ko kahi Roothne manaane
ka silsila jaari rakho.

ruthne manane wali shayari in urdu

मुझे मेरा इश्क़ तब सच्चा लगता हैं,
जब रूठती हो तो कुछ अच्छा नहीं लगता हैं.

mujhe mera ishq tab saccha lagta ha
jab ruthti ho to kuch acha nahi lgta hai.

ruthne wale ko manane ki shayari

तुम रूठी हो तो मनाने आया हूँ,
समझ सको तो इश्क़ जताने आया हूँ.

tum ruthi ho to manane aaya hun
samjh sako to ishq jatane aya hun.

ruthne manane wali shayari

ये झगड़ा किस बात का है ये रूठना मनाना
किस लिये है दो पल की ज़िन्दगी है आ हंस-
बोल के काट लें.

Ye jhagda kis baat ka hai Ye
roothna manaana kis liye hai
Do pal ki zindagi hai Aa hans
bol ke kaat lein.

ruthne manane ki shayari

जिंदगी गुज़र गई उसे रूठने और मनाने में,
उसने वक़्त तक नहीं लगाया हमें छोड़कर जाने में।

Zindagi guzar gai use ruthane aur
manane me usne waqt tak nahi lagaya
humein chodkar jane me..

ruthne par manane wali shayari

न रूठने का डर, और न मनाने की कोशिश,
दिल से उतरे हुए लोगों से अब शिकायत कैसी।

Na ruthne ka dar aur na manane
ki koshish dil se utare huye logon
se ab shikayat kesi.

ruthne ki shayari

हर एक पल उनकी याद में बिताते है
जान निकल जाती है जब वो रूठ जाते है.

Har Ek Pal Unki Yad Mein
batate Hain Jaan nikal Jaati
Hai Jab wo Rooth Jaati Hai..

manane ki shayari

बिन बात के ही रूठने की आदत हैकिसी
अपने का साथ पाने की चाहत हैआप खुश
रहें मेरा क्या है.

bin baat ke hi ruthane ki adat hai
kisi apne ka sath pane ki chahat hai
aap khush rahein mera kya hai.

manane wali shayari

कोई गिला नहीं मुझे तेरे रूठ जाने का,
था ही क्या मेरे पास तुझे देने के लिए.

Koi gila nahi mujhe tere ruth
jane ka tha hi kya mere pass
tujhe dene ke liye.

gf ko manane ki shayari

अजब तरीका है उसका मनाने का साहेब,
वो रूठ जाती है और मैं मान जाता हूं।

ajab tareeka hai uska manane
ka saheb,wo ruth jati hai aur
main maan jata hun.

girlfriend ko manane ki shayari

मोहब्बत आजमानी हो तो बस इतना ही
काफी है, जरा सा रूठ कर देखो मनाने
कौन आता है..

Mohabbat aaj mani ho to bas itna
hi kafi hai jara sa ruth kar dekho
manane kon aata ha.

रोमांटिक रूठे प्यार को मनाने वाली शायरी

तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो
क्या ग़म है जिस को छुपा रहे हो
दर्द का एहसास तो तब होता है.

Tum Itna Jo Muskura Rahe Ho
Kya Gham Hai Jisko Chhupa Rahe
Ho Dard Ka Ehsas to tab Hota Hai.

मनाने वाली शायरी

मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ,सिर्फ तेरे बहाने से है,
आधी तुझे सताने से है,आधी तुझे मनाने से है.

Meri zindagi me khushiyan sirf
tere bahane se hai adhi tujhe satane
se hai adhi tujhe manane se hai.

रूठी हुई प्रेमिका को मनाना शायरी

रुठने मनाने के फलसफे से तंग आ गया हूँ
ऐसा कर ए मोहब्बत, अब तू मेरा हिसाब कर दे.

Roothne manaane ke falsafe se
Tang aa gay hoon Aesa kar ae
mohababt Ab tu mera hisaab kar de.

रूठना मनाना शायरी rekhta

मोहब्बत की है तुमसे बेफिक्र रहो नाराज़गी
हो सकती है पर नफरत कभी नहीं हो सकती।

Mohabbat ki hai tumse befikar raho
narazgi ho sakti ha par nafrat kabhi
nhi ho sakti.

रूठना मनाना कविता

खत्म कर दिया किस्सा, अब रुठने मनाने का
सुना है वो शख्स हैरान है, मेरे इस रवैये से.

khtam kar diya kissa ab ruthne
manane ka suna ha wo shakhs
heran hai mere is ravaiye se.

रूठने पर कविता

बस यही चाहत है आंख खुले तो तेरा साथ
हो और आंख बंद हो तो तेरा ख्वाब हो।

bas yahi chahat hai ankh khule to
tera sath ho aur ankh band ho to
tera khawab ho..

रूठना मनाना शायरी इन हिंदी

रिश्ता दिल से होना चाहिए,शब्दों से नहीं.
नाराजगी शब्दों में होनी चाहिए,दिल में नहीं.

rishta dil se hona chahiye shabdon
se nahi narajgi shabdon se honi
chahiye dil me nahi.

रूठना मनाना शायरी हिंदी

तुम सिर्फ मेरे हो मेरे ही रहना वरना
सारे दांत तोड़ कर हाथ में दे दूंगी।

tum sirf mere ho mere hi rehna
warna sare daant tod kar hath me
de dungi..

रूठना मनाना शायरी

हम गए थे उनको मनाने के लिए,वो
खफा अच्छे लगे हमने खफा रहने दिया।

ham gye the unko manane
ke liye, wo khafa acche lage
hamne khafa rahne diya.

रूठना मनाना शायरी 2023

यूँ तो परेशानियां हज़ारों है इस जहाँ में
लेकिन तुम्हारे जितना कोई तंग नहीं करता।

Yun to pareshaniyan hazaron hai is
jahan me lekin tumhare jitna koi tang
nahi karta..

रूठना और मनाना शायरी

तरिके तो कई है तुम्हे अपने पास रखने के पर
मजा तो तब है जब तुम हमें मनाने का हुनर जानो.

Tarike to kai ha tumhe apne pass
rakhne ke par maja to tab ha jab
humein manane ka hunar jano.

रूठने मनाने की शायरी हिंदी

तेरी मोहब्बत में एक अजब सा नशा है,
तभी तो सारी दुनिया तुमपे फ़िदा है.

Teri mohabbat me ek ajab
sa nasha hai tabhi ro sari
duniya tumpe fida hai.

रूठने मनाने की शायरी

रूठना मनाना ये है इश्क़ का पहला उसूल
सोच कर क़दम रखना हो गर तुम्हें ये क़ुबूल.

Ruthna manana ye ha ishq ka
pehla usul soch kar kadam rakhna
ho gar tumhein ye kabul.

रूठने मनाने पर शायरी

तारीफें तो हर कोई करता है पर मुझे
तो सिर्फ उसके डांटने का अंदाज पसंद है।

tareefien to har koi karta ha
par mujhe to sirf uske dantne
ka andaj pasand ha.

रूठने मनाने वाली शायरी

रूठने-मनाने का,सिलसिला कुछ यू हुआ
मान गया था मगर,फिर रूठने का दिल हुआ।।

ruthne manane ka silsila kuch
yun hua man gaya tha magar
fir ruthne ka dil hua.

लव मनाने की शायरी

ज़ाहिर इश्क़ ही है मुझे तुमसे वरना इतनी
सिद्दत से तो मेने खुद को बी नहीं चाहा।

zahir ishq hi ha mujhe tumse
warna itni siddat se to mene
khud ko b nahi chaha.

रूठी पत्नी को मनाने के लिए शायरी

कभी हमको भी मयस्सर हो रूठना उनसे,
कभी हमारे दिल में भी ये हौसला आऐ।

kabhi hamko bhi mayassar ho
roothna unse, kabhi hamare dil
me bhi yeh hausla aye.

GF को मनाने के लिए शायरी

मोहब्बत की है तुमसे बेफिक्र रहो नाराज़गी
हो सकती है पर नफरत कभी नहीं हो सकती।

Mohabbat ki hai tumse befikar raho
narazgi ho sakti ha par nafrat kabhi
nhi ho sakti.

लड़कियों को मनाने वाली शायरी

मेरी सारी कोशिशें नाकाम होती है उनको
मनाने की, ना जाने कहां से सीखी है
ये अदा रूठ जाने की।

Meri sari koshishein nakam
hoti ha unko manane ki naa jane
kahan se sikhi ha ye ada ruth jane ki.

रूठे दोस्त को मनाना शायरी हिंदी

बस यही चाहत है आंख खुले तो तेरा साथ
हो और आंख बंद हो तो तेरा ख्वाब हो।

bas yahi chahat hai ankh khule to
tera sath ho aur ankh band ho to
tera khawab ho.

दोस्त को मनाने की शायरी

अब इस शहर में वो मजा नही है
क्योकि तेरी रुठने मनाने की सज़ा नही है.

Ab is shahar mein wo maza
nahi hai Kyonki teri roothne
manaane ki saza nahi hai.

रूठे को मनाना शायरी in english

तू मुझें मिले या ना मिले, मेरी तो बस यही
दुआ है कि तुझें ज़माने की हर ख़ुशी मिले।

Tu mujhe mile ya na mile meri
to bas yahi dua hai ki tujhe jamne
ki har khushi mile.

gf ko manane wali shayari

थोड़ा रूठना थोड़ा मना लेना चाहता हूँ,
की मरने से पहले मैं सबसे प्यार जता
लेना चाहता हूँ।

thoda ruthna thoda mana lena
chahta hun ki marne se pehle me
sabse pyar jata lena chahta hun.

dost ko manane ki shayari

रब से आपकी खुशियां मांगी है दुवाओ में

आपकी हसीं, साथ रहना यूं ही मेरे साथ

यही मेरी जिंदगी है।

Rab se apki khushiyan

mangi hai duaon me apki

hansi sath rahna yun hi mere

sath yahi meri zindagi hai.

gf ko manane ke liye shayari

उन्हें रूठने में वक़्त नहीं लगता
मेरे पास वक़्त नहीं मानाने को.

Unhe roothne mein waqt nahi lagta
Mere paas waqt nahi manaane ko.

bf ko manane ke liye shayari

न जाने कैसे मोहब्बत हुई तुझसे,
यू दिल मेरा बेकरार हुआ,
देखकर पहली ही दफ़ा तुझें,
अपना बनाने का ख्वाब उठा।

Na jane kese mohabbat hui tujhse
yun dil mera bekarar hua dekhkar
pehli hi dafa tujhe apna bnane ka
khawab utha.

girlfriend ko manane wali shayari

गलती एक करी थी उसने जो हमने सची मानी थी
हमने जाने को कहा और उसने रुठने की ठानी थी.

galti ek kari thi usne jo humne sochi
mani thi humne jane ko kahan aur
usne ruthne ki thani thi.

ruthe hue ko manane ki shayari

न जाने भगवान से कौन सी बात हुई दुआ मेरी
कुबूल इक रात हुई, बस तू आई मेरे खव्बो में,
व्ही तुझसे मेरी मुलाकात हुई।

Na jane bhagwan se kon si baat hui
dua meri kubul ik raat hui bas tu aai mere
khawabon me wahi tujhse mulakat hui.

ruthi hui gf ko manane ke liye shayari

सुनो ना अभी सिर्फ बहुत सारा प्यार कर लो
इग्नोर तो शादी के बाद भी कर सकते हैं।

Suno naa abhi sirf bahut sara pyar
kar lo, ignore to shadi ke bad bhi kar
sakte hain..

ruthe dost ko manane ki shayari

इतनी फ़िक्र तो मेरी नहीं करता है ये
दिल जितनी फ़िक्र तेरी करने लगा है।

itni fikar to meri nahi karta hai ye
dil jitni fikar teri karne laga ha.

ruthe ko manane wali shayari

तेरी स्माइल का भी क्या कहना मेरी जान
तेरी स्माइल देख कर अपनी जान तक
लुटा दूँ तुमपे।

Teri smile ka bhi kya kehna meri jaan
teri smile dekh kar apni jaan tak luta
dun tumpe.

.

की ढेर साडी तस्वीरें तो नहीं है मेरी उसके
साथ पर मेरे हर ख्वाब को वही पूरा करता है।

ki dher sari tasvurein to nahi ha
uske sath par mere har khwab ko
wahi pura karta ha.

.

की अंधेरों से प्यार नहीं उसे रोशनी का वो
मोहताज़ है और झुक जाता है वो अक्सर
क्युकी उसे रिश्तों से बड़ा प्यार है।

ki andheron se pyar nahi use
roshani ka wo mohtaaj hai aur
jhuk jata hai wo aksar kyuki use
rishton se bada pyar hai. .

कैसे कहूं की अपना बना लो मुझे,
बाँहों में अपनी समा लो मुझे,
आज हिम्मत करके कहता हूँ की,
मैं तुम्हारा हूँ अब तुम ही संभालो मुझे।

Kese kahun ki apna lo mujhe
bahon me apni sama lo mujhe
aaj himmat karke kehta hun ki me
tumhara hun ab tum sambhalo mje.

naraz dost ko manane ki shayari

तेरे सीने से लग कर तेरी आरजू बन जाऊं
तेरी साँसों से मिलकर तेरी खुशबू बन जाऊं
फासले ना रहे कोई हम दोनों के दरमियां
मैं मै ना रहूं तुम बन जाऊं.


Tere sine se laga kar teri arju ban
jaun teri sanson se milkar teri khushbu
ban jaun fasale na rahe koi hum dono ke
darmiyan me, me rahun tum ban jaun.

 
खुशबु की तरह आपके पास बिखर जाऊंगा,
सुकून बनकर दिल में उतर जाऊँगा,
महसूस करने की कोशिश कीजिए,
दूर होकर भी पास नज़र आऊंगा.

khushbu ki tarha apke pass bikhar
jaunga sukun bankar dil me utar jaunga
mahsus karne ki koshish kihiye dur
hokar bhi pass nazar aaunga.

तुम सिर्फ मेरे हो मेरे ही रहना वरना
सारे दांत तोड़ कर हाथ में दे दूंगी।

tum sirf mere ho mere hi rehna
warna sare daant tod kar hath me
de dungi.

सुनो ना अभी सिर्फ बहुत सारा प्यार कर लो
इग्नोर तो शादी के बाद भी कर सकते हैं।

Suno naa abhi sirf bahut sara pyar
kar lo, ignore to shadi ke bad bhi kar
sakte hain.

ruthe ko manane ki shayari

इतनी फ़िक्र तो मेरी नहीं करता है ये
दिल जितनी फ़िक्र तेरी करने लगा है।
itni fikar to meri nahi karta hai ye
dil jitni fikar teri karne laga ha.

तेरी स्माइल का भी क्या कहना मेरी जान
तेरी स्माइल देख कर अपनी जान तक
लुटा दूँ तुमपे।

Teri smile ka bhi kya kehna meri jaan
teri smile dekh kar apni jaan tak luta
dun tumpe.

wife ko manane ki shayari

यूँ तो परेशानियां हज़ारों है इस जहाँ में
लेकिन तुम्हारे जितना कोई तंग नहीं करता।

Yun to pareshaniyan hazaron hai is
jahan me lekin tumhare jitna koi tang
nahi karta.

ना कोई बता पाया है ,ना ही कोई बता पायेगा,
मेरी मोहब्बत इतनी गहरी है, कि गूगल भी
शर्मा जाएगा.

Na koi bata paya hai
na hi koi bata payega
meri mohabbat itni gahri
hai ki google bhi shrm jayega.

bf ko manane ki shayari

कितना प्यारा चेहरा है तेरा है कितनी
प्यारी मुस्कान तेरी देखते ही होश उड़ जाये
इश्क़ के दीवाने मर जाये मुस्कान में तेरी.

Kitna pyara chehra hai tera hai
kitni pyari muskan teri dekhte hi
hosh ud jaye ishq ke diwane mar
jaye muskan me teri.

 
सारी दुनिया के रूठ जाने की परवाह नहीं मुझे,
बस एक तेरा खामोश रहना मुझे तकलीफ देता.

sari duniya ke ruth jane ki parwah
nahi mujhe bas ek tera khamosh
rehta mujhe taklif deta.

ruthe pyar ko manane ki shayari

कुछ नशा तेरी बात का है,
कुछ नशा धीमी बरसात का है,
हमे तुम यूँही पागल मत समझो,
ये दिल पर असर पहली मुलाकात का है.

Kuch nasha teri baat ka hai
kuch nasha dhimi barsat ka ha
hume tum yunhi pagal mat samjho
ye dil par asar pehli mulakat ka hai.

देख मेरी आँखों में ख्वाब किसके हैं,
दिल में मेरे सुलगते तूफ़ान किसके हैं,
नहीं गुज़रा कोई आज तक इस रास्ते से हो कर,
फिर ये क़दमों के निशान किसके हैं।

dekh meri aankho mein khvaab kisake hai,
dil mein mere sulagate tufaan kisake hai,
nahi guzara koi aaj tak is raaste se ho kar,
Fir ye qadamo ke nishaan kisake hai.

biwi ko manane wali shayari

मोहब्बत से देख लो अगर,तो यूँ ही मर
जायेंगे,हर सितम ढाना,जरूरी तो नहीं.


Mohabbat se dekh lo agar,To
yoon hi mar jayenge,Har sitam
dhaana,Jaroori to nahi.

ज़िन्दगी तुम मेरी बन जाओ रब से और क्या माँगू,
जीने की वजह बन जाओ बस ये ही दुआ माँगू।

zindagi tum meri ban jao rab se
aur kya maangu, jeene ki vajah
ban jao bas ye hi dua maangu.

manane wali shayari for gf

सच्चा प्यार कहा किसी के नसीब में होता है.
एसा प्यार कहा इस दुनिया में किसी को
नसीब होता है.

Sacha pyar kaha kisi ke nasib
me hota hai esa pyar kahan is
duniya me kisi ko nasib hota hai.

सच्चे प्यार की ना तो कदर होती है
और ना ही कोई समझता है इसिलए
सच्चा प्यार अक्सर अधूरा रह जाता है.

Sache pyar ki na to kadar hoti hai
aur na hi kai samjhta hai isliye
sacha pyar aksar adhura rah jata hai.

boyfriend ko manane wali shayari

सच्चा प्यार सिर्फ वो लोग कर सकते हैं
जो किसी का प्यार पाने के लिए तरस चुके हो.

Sacha pyar sirf wo log kar sakte hai
jo kisi ka pyar pane ke liye tars chuke ho.

जो कुछ भी मिला है उसी में खुश हूँ
मैं तेरे लिए खुदा से तकरार नहीं करता
पर कुछ तो बात है तेरी फितरत में ज़ालिम
वरना तुझे चाहने की खता बार-बार ना करता.

Jo kuch bhi mila hai usi me khush hun
me tere liye khuda se takrar nahi karta
par kuch to baat hai teri fitrat me jalima
varna tujhse chahne ki khata bar bar n krta.

ladki ko manane ke liye shayari

जो नजरो का हुआ मिलना लब तेरे भी मुस्कुराये थे
ईश्क के हर जूर्म में मेरे तेरी मोहोब्बत के साये थे
मेरी हर रात में सजनी तेरी सेजो के साये थे
रात को ख्वाब में मेरे ख्वाब तेरे मिलने आये थे.

Jo nazaron ka hua milna lab tere bhi
muskuraye the ishq ke har jurm me
mere teri mohobbat ke saye the meri
har rat me sajani teri sejo ke saye the
raat ko khawab me mere khawab tere
milne aaye the.

कुछ इस तरह खूबसूरत रिश्ते टूट जाया करते हैं
दिल भर जाता है तो लोग रूठ जाया करते हैं…

Kuchh is tarah khubsoorat rishte toot jaya karte hain
Dil bhar jata hai to log rooth jaya karte hain..


जाने कब जाएगी ये आदत मेरी
रूठना तुमसे और औरों से उलझते रहना

Jane kan jayegi ye aadat meri
Roothna tumse aur auron se uljhte rahna

गहरी हो जाती है हर दफ़ा मुहब्बत मेरी..
जाया नहीं जाता तेरा बार बार रूठना ..

Gahari ho jati hai har dafa mohababt meri
Jaya nahi jata tera baar baar roothna


तुझ से क्या रूठना ए वक्त
तु लौट कर तो आऐगा ही एक दिन !

Tujh se kya roothna ae waqt
Tu laut kar to aayega hi ek din


कोई अपना हमसे जब भी रूठ जाता है
ऐसा लगता साथ रब का छूट जाता है

Koi apna hamse jab bhi rooth jata hai
Aesa lagata sath rab ka chhut jata hai


आज मुझसे पूछा किसी ने कयामत का मतलब
और मैंने घबरा के कह दिया रूठ जाना तेरा

Aaj mujhse puchha kisi ne kyaamat ka matlab
Aur maine ghabra ke kah diya rooth jana tera


दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको
हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं

Dushman ke sitam ka khauf nahin hamko
Ham to doston ke rooth jane se darte hain


रूठने का हक़ है तुझे, वजह बताया कर
ख़फ़ा होना गलत नही, तू खता बताया कर

Roothne ka haq hai tujhe, wajah bataya kar
Khafa hona galat nahi, tu khaat bataya kar


हर घड़ी का ये बिगड़ना नहीं अच्छा ऐ जान
रूठने का भी कोई वक़्त मुक़र्रर हो जाए

Har ghadi ka ye bigadna nahin accha ae jaan
Roothne ka bhi koi waqt mukrrar ho jaye


बहाने बनाना कोई उनसे सीखे, बनाकर मिटाना कोई उनसे सीखे
सबब रूठने का भी होता है लेकिन, यूं ही रूठ जाना कोई उनसे सीखे

Bahaane banaana koi unse seekhe, banakar mitaana koi unse seekhe
Sabab roothne ka bhi hota hai lekin, yun hi rooth jana koi unse seekhe


मुद्दतों बाद आज फिर परेशान हुआ है दिल
जाने किस हाल में होगा मुझसे रूठने वाला

Muddato baad aaj phir pareshan hua hai dil
Jane kis haal mein hoga mujhse roothne wala


रूठने की उसकी अदा भी अजब है
बिन कहे करता है शिकायतें गजब है

Roothne ki uski ada bhi gazab hai
Bina kahe karta hai shikaytein gazab hai


नया नया शौक उन्हें रूठने का लगता है
खुद ही भूल जाते हैं रूठे थे किस बात पर

Naya naya shauk unhein roothne ka lagta hai
Khud hi bhoolm jate hai roothe the kis baat par

2 Line Roothna Shayari


ज़माने से रुठने की जरूरत ही क्यों हो
जब मेरे अपने ही मेरे बने रकीब हो

Jamane se roothne ki jarurat hi kyon ho
Jab mere apne hi mere bane raqeeb ho


उफ़ —उसके रूठने की अदाये भी गजब की थी
बात बात पे कहना की “सोच लो फिर बात नहीं करुँगी”

Uff – uske roothne ki adaayen bhi gazab ki th
Baat baat pe kahna ki “soch lo phir baat nahin karungi”


तुझे खबर भी है इसकी ओ रूठने वाले
तुम्हारा प्यार ही मेरा कीमती खजाना था

Tujhe khabar bhi hai iski o roothne wale
Tumhara pyar hi mera keemati khazana tha


हमें तो रूठने का सलीका भी नहीं आता
जाते-जाते खुद को उसके पास ही छोड़ आये

Hamein to roothne ka saleeqa bhi nahi aata
Jate-jate khud ko uske paas hi chhod aaye


हर बार रिश्तों में और भी मिठास आई है
जब भी बाद रूठने के तू मेरे पास आई है

Har baar rishton mein aur bhi mithas aayi hai
Jab bhi baad roothne ke tu mere paas aayi hai

Famous Roothna Shayari


न रूठना हमसे हम मर जायेंगे
दिल की दुनिया तबाह कर जायेंगे
प्यार किया है हमने कोई मजाक नहीं
दिल की धड़कन तेरे नाम कर जायेंगे

N aroothna hamse ham mar jayenge
Dil ki duniya tabaah kar jayenge
Payr kiya hai hamne koi mazaak nahin
Dil ki dhadkan tere naam akr jayenge


बिन बात के ही रूठने की आदत है
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है
आप खुश रहें मेरा क्या है
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है

Bin baat ke hi roothne ki aadat hai
Kisi apne ka sath pane ki chahat hai
Aap khush rahe mera kya hai
Main to aaina hoon, mujhe to tootane ki aadat hai


राहत अपनों से मिलती है
चाहत भी अपनों से मिलती है
अपनों से कभी रूठना नहीं
क्योंकि मुस्कुराहट भी सिर्फ अपनों से मिलती है

Raahat apno se milti hai
Chahat bhi apno se milti hai
Apno se klabhi roothna nahi
Kyonki muskuraahat bhi sirf apno se milti hai

Latest Roothna Shayari


बिन बात के ही रूठने की आदत है
किसी अपने की चाहत पाने की चाहत है
आप खुश रहें, मेरा क्या है
मैं तो आईना हूँ मुझे टूटने की आदत है

Bin baat ke hi roothne ki aadat hai
Kisi apne ki chahat paane ki chahat hai
Aap khush rahein, mera kya ahi
Main to aaina hoon, mujhe tootne ki aadat hai


तू जो रूठ्ने लगा है
दिल टूटने लगा है
अब सब्र का भी दामन
मुझसे छूटने लगा है

Tu jo roothne laga hai
Dil tootne laga hai
Ab sabr ka bhi daaman
Mujhse chhutne laga hi


रूठने की कोई…….दास्ताँ रही होगी
यकीनन कोई …….. खता रही होगी
तुमने सलाम नहीं लिया होगा उनका
यही तो बात दिल को सता रही होगी

Roothne ki koi…dastan rahi hogi
Yaqeenan koi….khata rahi hogi
Tumne salam nahin liya hoga unka
Yahi to baat dil ko sata rahi hogi


तेरा रूठना शायरी | Tera Ruthna Shayari

रूठने वालों को अब ये बताएं कौन,
वक़्त किसी के पास नहीं, मनाएं कौन.

जिन्दगी में जब गम का होता हैं सुरूर,
तब हर कोई अपना रूठता हैं जरूर.

इतनी मोहब्बत है तो रूठते क्यों हों,
इतना मनाने पर भी कुछ बोलते नहीं हो.

मुझे मेरा इश्क़ तब सच्चा लगता हैं,
जब रूठती हो तो कुछ अच्छा नहीं लगता हैं.

रूठना शायरी 2 लाइन | Ruthna Shayari 2 Lines

तुझे सिर्फ़ तेरा रूठना दिखता हैं,
क्या कभी मेरे दिल का टूटना भी दिखता हैं.

क्यों तू मुझे इस तरह से सताती हैं,
रूठने से तेरे नींद रातों में मुझे नहीं आती हैं.

रूठना मनाना शायरी इन हिंदी | Ruthna Manana Shayari in Hindi

रूठता हूँ और बिना मनायें मान जाता हूँ,
अपनों के पास वक़्त नहीं, ये जान जाता हूँ.

मेरी जान तुम रूठ जाओ चाहे जितनी बार,
बढ़ता ही जायेगा मेरे दिल में तेरे लिए प्यार.

अपने हुनर को आजमाता हूँ,
जब तुम रूठ जाती हो तो मनाता हूँ.

तेरा रूठना शायरी | Tera Roothna Shayari

तुम रूठी हो तो मनाने आया हूँ,
समझ सको तो इश्क़ जताने आया हूँ.

दिल टूट कर चूर हो जाता है,
जब कोई अपना रूठ कर दूर हो जाता हैं.


Ruthna Manana Shayari Images 

उससे, खफ़ा होकर भी देखेंगे, 

एक दिन.. कि, 

उसके मनाने का अंदाज़ कैसा है..! 

Usase, Khafa hokar bhee dekhenge, 

Ek din.. Ki, 

Usake manaane ka andaaz kaisa hai..! 

Ruthna Manana Shayari in Hindi Font 

रूठना अगर मुझसे तो 

ये जहन में रखना 

मनाना आदत नही हमारी 

और जुदा हम रह नही सकते 

Roothna agar mujhse to 

Ye jahan mein rakhna 

Manaana aadat nahi hamri 

Aur juda ham rah nahi sakte 

Ruthna Manana Shayari in Hindi 

दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको, 

हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं… 

Dushman ke sitam ka khauf nahi hamko, Ham to doston ke rooth 

jaane se darte hain 

रूठना मनाना शायरी 

रूठ ने का हक़ भी छीन लिया,

अब बचा ही क्या है लूटने के लिए.. 

Rooth ne ka haq bhee chheen liya,

Ab bacha hee kya hai lootane ke lie 

Ruthna Manana Shayari Hindi 

कितना मुश्किल है मनाना उस शख्स को 

जो रूठा भी ना हो और बात भी ना करे 

Kitana mushkil hai manaana us shakhs ko Jo rootha bhi na ho aur baat bhi na kare 

Ruthna aur Manana Shayari 

रूठना मत हमें मनाना नहीं आता 

दूर मत जाना हमें बुलाना नहीं आता 

तुम हमें भूल जाओ तुम्हारी मर्जी 

मगर हमें तो भुलाना भी नहीं आता 

Roothna mat hamein manaana nahin aata,

Door mat jana hamein bulaan nahin aata,

Tum hamein bhool jao tumhari marzi,

Magar hamein to bhulana bhi nahin aata..

Ruthne Manane Wali Shayari 

रुठने मनाने के फलसफे से तंग आ गया हूँ 

ऐसा कर ए मोहब्बत, 

अब तू मेरा हिसाब कर दे 

Roothne manaane ke falsafe se 

Tang aa gay hoon 

Aesa kar ae mohababt 

Ab tu mera hisaab kar de.


रूठ जाओ तो मानती नहीं हो,
बात ऐसे करती हो जैसे जानती नहीं हो.

तेरे रूठने से मेरे मनाने तक का सफर,
तू नहीं समझ सकेगी मेरे दिल पर कितन ढाता है कहर.

रूठा करो तो मान भी जाया करों,
मेरे मासूम दिल का हाल जान भी जाया करों.

तुम कितना भी रूठ जाओ मैं तुम्हें मना लूँगा,
तुमसे इश्क करता हूँ मैं तुम्हें अपना बना लूँगा.

समझ नही पाता हूँ
वो रूठ कर सताती है,
या मेरे दिल के करीब आती है.

तुम यूँ ना मुँह फेरा करो
तेरी गली में अब नहीं आयेंगे,
जो तू रूठ गई तो सच कहते है
ये दुनिया छोड़ जायेंगे.

बता नहीं सकते है तुमसे कितनी मोहब्बत हैं,
तुम कितना भी रूठ जाओ मैं तुम्हें मना लूँगा.

अब तो उसका रूठना भी भाने लगा है,
अब तो उसकी हर अदा पर प्यार आने लगा हैं.

तुम रूठ जाती हो तो अच्छा नहीं लगता है,
मैं तुम्हारी मुस्कुराती होंठों का दीवाना हूँ.

बड़ा अच्छा लगता है रूठ कर तेरा मान जाना,
मेरे बेकरार दिल का हाल जान जाना.

रूठ ने का हक़ भी छीन लिया,
अब बचा ही क्या है लूटने के लिए..!

Roothne Ka Haq Bhee Sheen Liya,
Ab Bachaa Hy Kya Hai Lootne Ke Liye.!

अकेले में तुम्हारी याद आना अच्छा लगता है ,
तुम्ही से रूठना तुमको मनाना अच्छा लगता है।

रूठना अगर तुम्हारी आदत है,
तो तुम्हें मनाना मेरा कर्तव्य है।
तुम हजा़र बार रूठोगी,
तो मैं लाखों बार मनाऊंगा….

ये झगड़ा किस बात का है..
ये रूठना मनाना किस लिये है..
दो पल की ज़िन्दगी है..
आ हंस-बोल के काट लें..

हर रोज़ की अब ये दास्तां हो गई..रूठना.. मनाना..
फिर रूठ जाना..!!

न रूठना आप हमसे कभी, हमें मनाना नहीं आता,
चाहत कितनी है आपके लिए जताना भी नहीं आता,
इंतज़ार करते हैं कब मिलेंगे आपसे,
मिलने का कोई बहाना भी नहीं आता!

कितना मुश्किल है मनाना उस शख्स को ..
जो रूठा भी ना हो और बात भी ना करे …

दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको,
हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं……!!

कोई अपना हमसे जब भी रूठ जाता है,
ऐसा लगता साथ रब का छूट जाता है.

चाहता था मै भी तुम्हे दिल की बात सुनाना,
पर तुमने कहा आता नहीं मुझे रूठे को मनाना

जाने कब जाएगी ये आदत मेरी
रूठना तुमसे और औरों से उलझते रहना….

ये रूठना , मनाना अदाएँ हैं मोहब्बत की
चटपटा न हो तो खाने में मज़ा क्या है ?

ना मेरा कभी रूठना…और ना कभी तेरा मनाना…ही
हम दोनों को मोहब्बत को कम कर गया ..!!

तेरा बार बार रूठना मुझे अच्छा लगता है…..।
पर क्या तुझे भी मेरा मनाना अच्छा लगता है।।

रूठना अगर मुझसे तो ये जहन में रखना,
मनाना आदत नही हमारी और जुदाहम रह नही सकते.

न रूठना हमसे हम मर जायेंगे
दिल की दुनिया तबाह कर जायेंगे प्यार किया है
हमने कोई मजाक नहीं
दिल की धड़कन तेरे नाम कर जायेंगे..

गहरी हो जाती है हर दफ़ा मुहब्बत मेरी..

जाया नहीं जाता तेरा बार बार रूठना ..

तुझ से क्या रूठना ए वक्त,
तु लौट कर तो आऐगा ही एक दिन !

आज मुझसे पूछा किसी ने कयामत का मतलब ,
और मैंने घबरा के कह दिया रूठ जाना तेरा…

बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें मेरा क्या है..

मैं तो आइना हूँ,
मुझे तो टूटने की आदत है..

खफा होने से पहले खता बता देना,
रुलाने से पहले हँसना सिखा देना,
अगर जाना हो कभी हम से दूर आप को,
तो पहले बिना साँस लिए जीना सिखा देना.

चुप रहते है के कोई खफा न हो जाये,
हमसे कोई रूसवा न हो जाये,
बडी मुश्किल से कोई अपना बना है,
डरते है की मिलने से पहले ही कोई जुदा न हो जाये…

जिस पल मे टूट जाते है सपने,उस पल मे ही रूठ जाते है अपने,
हमे किसी को मनाना नही आता,
शायद तभी तो हमसे रूठ जाते है अपने…

रिश्तों का विश्वास टूट ना जाए,
प्यार का साथ कभी छूट ना जाए,
ए खुदा गलती करने से पहले मुझे संभाल लेना,
कही मेरे गलती से मेरा महबूब रूठ ना जाए…

दर्द होता नहीं दुनिया को दिखाने के लिएदर्द होता नहीं दुनिया को दिखाने के लिए,
हर कोई रोता नहीं आँसू बहाने के लिए,
रुठने का मज़ा तो तब आता है,
जब कोई अपना होता है मनाने के लिए…

राहत अपनों से मिलती है,
चाहत भी अपनों से मिलती है,
अपनों से कभी रूठना नहीं,
क्योंकि मुस्कुराहट भी सिर्फ अपनों से मिलती है..

मुस्कुरा कर मिला करो हमसे,
कुछ कहा और सुना करो हमसे…
बात करने से ख़ुशी मिलती है हमे,
रोज़ बाते किया करो हमसे…

वो एक दोस्त जो खुदा सा लगता है,
बहुत पास है दिल के फिर भी जुदा सा लगता है,
बहुत दिनों से आया नही कोई पैगाम उसका,
शायद किसी बात पे खफा सा लगता है…

वो मेरा दोस्त जो खुदा जैसा लगता है,
दिल के पास है फिर भी जुदा सा क्यों लगता है,
काफी दिनों से आया नहीं कोई पैगाम उसका,
शायद कोई बात पे हमसे खफा सा लगता है…

वो सोचते हैं की लडने से और बात न करने से लोग भूल जाते हैं,
मगर उन्हें नहीं पता की लडने से प्यार बढता है,
और बात न करने से बेचैनी बढती है…

तेरा साथ ना छूटे बस दुआ है मेरी,
तेरा ख़याल ना छूटे बस दुआ है मेरी,
रूठे चाहे रब मेरा मुझसे,
मेरा प्यार ना रूठे बस दुआ है मेरी…

वो जो तेरी मुझको प्यार
से मनाने की आदत है न,
सच कहूँ रूठने को
बार बार मन करता है।

रूठ गए तुम हम मनायेंगे,
तेरे बिना चैन कहां पायेंगे।

जिन लोगो को रिश्तों
की कदर होती हैं,
वह मानाने से मान
जाया करते हैं।

ये जो तुम रुठ जाती हो हमसे,
कभी बता भी दो किस
हक़ से मनाए तुम्हे।

मेरे रूठने पे मनाता नहीं है,
खुद भी रूठ जाता है।

थोड़ा रूठना थोड़ा
मना लेना चाहता हूँ,
की मरने से पहले मैं सबसे
प्यार जता लेना चाहता हूँ।

खफा होने की वजह तो बता दो,
मनाने के तरीके हम ढूंढ लेंगे।

नाराजगी को मेरी
वो कुछ यु मिटा देता है,
की मुझे मानाने के लिए
वो अक्सर चाय बना लेता है।

जिंदगी मे खुशियाँ दो बहाने से है,
एक तुझे सताने से है
एक तुझे मनाने से है।

तेरा वो रूठ जाना
फिर मेरा यूँ मानना,
फिर मुस्कुरा करके
तेरा यूँ मुझे सताना
अच्छा लगता है।

लौट गई खुशियां आकर
मेरे दरवाजे से क्योंकि,
हम मसरूफ थे रूठने मनाने में।

रुठना हमे भी अच्छा लगता हैं,
अगर कोई मानाने वाला साथ हो तो।

मुझे मनाने की बजाय
वो खुद ही रूठ जाया करता हैं,
अक्सर वो गुस्से में
अपना प्यार जताया करता है।

मेरा यार मुझसे रूठा है,
कोई मनाने का हुनर
बताइए तो सही।

याद आते है बीते ज़माने,
जब आये थे तुम हमको मानाने।


तू हजार बार भी रूठे तो मना लूंगा तुझे
मगर देख मोहब्बत में शामिल कोई दूसरा न हो..

आज दरिया चढ़ा चढ़ा सा है
कोई हमसे ख़फ़ा ख़फ़ा सा है
नाक नक्शा बस आप ही जैसा
नाम भी कुछ भला भला सा है…

तु हजार बार भी रूठे तो मना लूंगा तुझे
मगर देख मुहब्बत में शामिल कोई दूसरा न हो…

Pasand hai uska Mujhe pyar se manana Isliye,

achcha Lagta hai bar bar ruth Jana..

Bohot mushkil hai manana us insan ko
Jo rutha bhi na ho aur baat bhi na kare..

Wahi hai saccha pyar jahan ladai hone ke bad bhi
Dil Kahe Ki bus ab maan bhi jao na..

Koi ruthe to jaldi se mana lena kyunki
Zid ki jung mein hamesha judai jeet jaati hai..

वह गलतियां बहुत दर्द देती है
जिनकी माफी मांगने का वक्त निकल चुका हो..

Dil to karta hai ki rooth jau bachho ki tarah
Fir sochta hun manayega kaun..

Bohot soch kar apnose rootha karo
Ajkal manane ka reewaz khatam ho gaya hai.

वह लोग कभी नहीं रूठते
जिन को मनाने वाला कोई ना हो..

jab koi meri wajah se
hurt hota hai na
to kuchh time bad unse
jyada Bura mujhe lagta hai..

किसी की भिगी पलके देखकर यह याद आता है
वो कितना टूट कर रोती थी जब मे रुठ जाता था..

गलती पर साथ छोड़ने वाले तो बहुत मिलते है पर
गलती पर समझा कर साथ निभाने वाले बहुत कम मिलते हैं..

तू रूठा रूठा सा लगता है,
कोई तरकीब बता मनाने की,
मैं ज़िन्दगी गिरवी रख दूंगा,
तू क़ीमत बता मुस्कुराने..

Read More:

https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B5%E0%A5%8D%E0%A4%AF